Oct 2, 2009

नरेगा का नाम बदला

भारत सरकार ने नरेगा (National Rural Employment Guarantee Act) का नाम बदल करके Mahatma Gandhi Rural Employment Guarantee Act कर दिया है। ऐसा करने के पीछे क्या कारण है वोह तो पता नहीं पर लगता है की इसका नाम महात्मा गाँधी पर रखने से इस योजना में जो धांधलियां हो रही है वोह अपने आप रूक जाएँगी । और सब लोग ईमानदारी से इस योजना को सफल बनाने में जुट जायेंगे !!!

गाँधी जी का नाम लिखने भर से ही योजना सफल होने की गारंटी मिल गई ।
ऐसा लगता है की योजना का नाम अगर मात्र से ही हमारे देश के नवयुवको को रोजगार की आशा बढ़ जायेगी और महात्मा गाँधी जी स्वर्ग में बैठे बैठे ही रोजगार उपहार स्वरुप देदेंगे अगर ऐसा हो सकता है तो मैं तो यही सुझाव दूँगा की सभी योजनाओ के नाम बदल कर गाँधी जी के नाम पे ही रख देने चाहिए।


अब मेरी नासमझ जिज्ञासा ........

क्या योजना का नाम बदलने से सरकारी कागजो पर नाम बदलने का अतिरिक्त खर्च नहीं आएगा .......??? शायद उस खर्चे से कुछ और लोगो को रोजगार मिल सकता था या यह पैसा किसी उचित और महतवपूर्ण कार्य में खर्च हो सकता था

क्या हमारे देश के पास फालतू पैसा है ऐसे फिजूल के कामों पे खर्च कने के लिए ????


आपका जिज्ञासु

सौरभ शर्मा