Aug 18, 2015

Bhagwat Gita Ch. 1 Verse 43

Bhagwat Gita

उत्सन्नकुलधर्माणां मनुष्याणां  जनार्दन |
नरके नियतं वासो भवतीत्यनुशुश्रुम || ४३ ||

हे जनार्दन, कुलधर्म भ्रष्ट हुये मनुष्यों को अनिश्चित समय तक नरक में वास करना पडता है, ऐसा हमने सुना है।   || ४३ ||